Thursday ,25th July 2024

अग्निवीर पर राहुल गांधी के आरोपों को सेना ने किया खारिज

आमिर अंसारी

दिल्ली - भारतीय सेना ने राहुल गांधी के उस दावे को खारिज कर दिया कि ड्यूटी के दौरान मारे गए अग्निवीर के परिवार को मुआवजा नहीं मिला है.भारत में सैनिकों की अल्पकालिक भर्ती के लिए अग्निपथ योजना को लेकर विवाद बुधवार को तब तेज हो गया, जब लोकसभा में विपक्ष के नेता राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि अग्निवीर अजय कुमार कुमार के परिजनों को मुआवजे को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में "झूठ" बोला.

राहुल ने बुधवार को एक वीडियो जारी कर कहा कि सेना ने अग्निवीर अजय कुमार के परिवार को कोई मुआवजा नहीं दिया. हालांकि यह साफ नहीं है कि यह वीडियो किस तारीख का है.

भारतीय सेना ने क्या कहा
भारतीय सेना के अतिरिक्त लोक सूचना महानिदेशालय (एडीजीपीआई) ने राहुल गांधी के दावों को लेकर बुधवार देर रात एक बयान जारी किया. सेना के बयान के मुताबिक अग्निवीर के परिवार को 98.39 लाख रुपये का भुगतान किया जा चुका है. साथ ही पुलिस वेरिफिकेशन के बाद लगभग 67 लाख रुपये का अतिरिक्त मुआवजा दिया जाना है, जो कुल मिलाकर 1.65 करोड़ रुपये है.सेना ने उन सोशल मीडिया पोस्ट का खंडन करते हुए अपने बयान में कहा, "सोशल मीडिया पर कुछ पोस्टों से पता चला है कि ड्यूटी के दौरान अपनी जान गंवाने वाले अग्निवीर अजय कुमार के परिजनों को मुआवजा नहीं दिया गया है." सेना ने शहीदों के बलिदान का सम्मान करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है.

सेना ने आगे कहा, "इस बात पर फिर से जोर दिया जाता है कि शहीद हुए सैनिकों के परिजनों को, जिनमें अग्निवीर भी शामिल हैं, शहीद नायक को मिलने वाले भत्ते का शीघ्र भुगतान किया जाए."

राहुल गांधी का आरोप
राहुल गांधी ने एक्स पर एक वीडियो पोस्ट किया था. जिसमें पंजाब के अग्निवीर अजय कुमार के पिता को बोलेत हुए दिखाया गया कि उन्हें कोई पैसा नहीं मिला है. राहुल गांधी ने बुधवार को आरोप लगाया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अग्निवीर की मृत्यु की स्थिति में उनके परिवार को आर्थिक सहायता मिलने के बारे में संसद के भीतर "झूठ" बोला. उन्होंने कहा कि राजनाथ सिंह को संसद, देश और सेना से माफी मांगनी चाहिए.
राहुल गांधी ने सोमवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए अग्निपथ योजना को लेकर सवाल उठाए थे. उन्होंने दावा किया था कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार अग्निवीर को शहीद का दर्जा नहीं देती और मुआवजा नहीं दिया जाता.

राहुल गांधी के दावों पर रक्षा मंत्री ने उनपर सदन को गुमराह करने का आरोप लगाया था. राजनाथ ने संसद में कहा, "हमारी सीमाओं की रक्षा करते हुए या युद्ध के दौरान अपनी जान गंवाने वाले अग्निवीर के परिवार को एक करोड़ की आर्थिक मदद दी जाती है."

बारूदी सुरंग फटने से हुई थी अग्निवीर की मौत
अग्निवीर अजय कुमार की इसी साल जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में एक बारूदी सुरंग फटने से मौत हो गई थी. सेना ने स्पष्टीकरण में कहा कि भारतीय सेना अग्निवीर अजय कुमार के सर्वोच्च बलिदान को सलाम करती है और शहीद अजय कुमार का अंतिम संस्कार पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया गया. सेना का कहना है कि अग्निवीर अजय के परिवार को लगभग 1.65 करोड़ की राशि दी जाएगी.

भारत सरकार ने भारतीय सशस्त्र बलों में जवानों की अल्पकालिक भर्ती के लिए जून 2022 में यह योजना शुरू की थी. अग्निपथ योजना के तहत सेना में अग्निवीरों को भर्ती किया जाता है. यह भर्ती चार साल के लिए होती है. इस दौरान नियमित वेतन के अलावा चार साल का कार्यकाल पूरा होने पर अग्निवीर सैनिकों को लगभग 12 लाख रुपये मिलते हैं. हालांकि, एक निश्चित संख्या में अग्निवीरों को स्थायी सेवा का मौका भी मिलता है.

जून महीने में एक रिपोर्ट आई थी कि सरकार ने अग्निपथ योजना की समीक्षा करने और सशस्त्र बलों में भर्ती कार्यक्रम को और अधिक आकर्षक बनाने के तरीके सुझाने के लिए 10 प्रमुख मंत्रालयों के सचिवों के एक समूह को काम सौंपा है. सचिवों का यह समूह अग्निपथ योजना के जरिए सैनिकों की भर्ती को और अधिक आकर्षक बनाने के तरीके सुझाएगा

Comments 0

Comment Now


Total Hits : 284659