Monday ,20th May 2024

आरटीओ विभाग ने बनाया आगर मालवा जिले को अवैध वसूली का अड्डा

आगर मालवा जिले में अवैध वसूली के तार जिम्मेदारो तक जिम्मेदार अधिकारियों के संज्ञान में बावजूद नही कोई कार्यवाही धीरपहाडा आगर मालवा/ जिले में डोंगरगांव एकीकृत सीमा ज्यांच् चौकी पर लूट खसोट का खेल तो चल ही रहा था साथ ही अब एक रोड़ पर दो जगह वसूली का खेल आगर और सुसनेर के बीच शुरू कर दिया वही एक और अवैध वसूली का अड्डा आगर और बडौद के बिच लगा कर बेटे है ख़ास बात तो यह है कि ये अवैध वसूली का यह खेल परिवहन विभाग आगर मालवा के संरक्षण में चल रहा है। ओर जिले में बेटे जिम्मेदार अधिकारी का भी इस और कोई ध्यान नही शायद ऐसी कोई मजबूरी तो नहीं। जिले में डोंगरगांव के अलावा और कई जगह पर आरटीओ विभाग की गाड़ियां लोगो से वसूली करती है खुले में चल रही यह वसूली लोगो के मन मे स्थानीय राज नेताओ की छवि को भी धूल मिल करता है। *इन चौकीयो पर ऐसे लेते है ट्रक चालक से पैसे* ट्रक ड्राइवर बताते हैं कि गाड़ियों के हिसाब से जाने गाड़ी के वजन के हिसाब से इस कॉरिडोर पर वसूली की जाती है यह वसूली ₹500 से लेकर 2500 या उससे अधिक 2700 तक की जाती है ।अगर यह रकम या इस रकम का आंकड़ा लगाया जाए तो यह आंकड़ा करोड़ों के पार चला जाता है प्रदेश में भाजपा की सरकार है और सरकार प्रदेश को भ्र्ष्टाचार मुक्त करने का वादा पूरे विश्वास के साथ करती आई है और इस तरह की वसूली सरकार के वादों का मजाक उड़ाती है। इस तरह की पेसो की अवैध वसूली परिचालक के मन में सरकार के प्रति ओर सिस्टम के प्रति नकारात्मक सोच पैदा करती है। ओर ये पूरा खेल टोकन से शुरू होता है । पिछले 2 सालों से लगभग सभी व्यवसाय ठप पड़े है ऐसे में इस तरह की उग्गाई मुश्किल में डाल सकती है। शायद कही ना कही जिम्मेदार अधिकारी भी इस खेल में लिप्त है इसीलिए जिम्मेदार अधिकारी द्वारा इस मामले को लेकर कितनी भी शिकायत मिले तो उसे अनदेखा कर दिया जाता है। जब हमारे द्वारा आरटीओ अधिकारी शैलेंद्र निगम से संपर्क किया गया तो उनके द्वारा फोन रिसीव नहीं किया गया।

Comments 0

Comment Now


Total Hits : 278103