Friday ,24th May 2024

उज्जैन में शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज में कॉन्ट्रैक्ट बेस पर नियुक्त सहायक प्राध्यापकों ने प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा*

 

 

*उज्जैन में शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज में कॉन्ट्रैक्ट बेस पर नियुक्त सहायक प्राध्यापकों ने प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा* *लगातार चौथे दिन भी चालू रहा प्रदर्शन*

*लोकेशन* उज्जैन
*रिपोर्ट* प्रियंक

उज्जैन में शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज में कॉन्ट्रैक्ट बेस पर नियुक्त सहायक प्राध्यापकों ने प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है दरअसल यह सितंबर महा में सेवा अवधि समाप्त होने का विरोध कर रहे हैं यदि सेवाएं समाप्त की जाती है तो प्रदेश के 7 जिलों सहित देश के 11 राज्यों के सहायक अध्यापक प्रभावित होंगे इंदौर रोड स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज पर अपनी मांगों को लेकर हाथों में तख्ती व बैनर लगाकर प्रदर्शन किया जा रहा है उज्जैन के शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज में  टेक्युप परियोजना अंतर्गत नियुक्त 35 अध्यापकों ने अपनी सेवा अवधि बढ़ाने की मांग को लेकर सोमवार को भी प्रदर्शन किया यह उनके प्रदर्शन का चौथा दिन का  प्रदर्शन  इन्हें शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार प्रबंध किए कार्य में सहयोग के लिए 2017 में इंजीनियरिंग कॉलेज में 3 साल के लिए नियुक्त किया था इनकी नियुक्ति से कॉलेज में प्रोफेसरों की कमी  मिटी है  अकादमिक  गुणवत्ता में सुधार आया है कक्षाओं का नियमित संचालन हुआ है  प्रोजेक्ट 30 सितंबर को समाप्त हो रहा है सहायक अध्यापकों का कहना है कि कालेज को हमारी जरूरत है और हमें भी अभी कोरोना आपदा के कारण रोजगार के अवसर भी बंद है इसलिए हमारे और विद्यार्थियों के भविष्य की खातिर हमारी सेवा अवधि बढ़ाई जाना चाहिए यही मांग सरकार तक पहुंचाने को प्रदर्शन कर रहे हैं

 

Comments 0

Comment Now


Total Hits : 278422