Monday ,20th May 2024

पीएम स्वनिधि योजना से रोजगार प्रारंभ करने में मिली मदद

स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने हितग्राहियों को किया लाभान्वित रायसेन में पीएम स्वनिधि योजना के तहत हितलाभ वितरण एवं संवाद कार्यक्रम आयोजित संवाददाता मनीष नामदेव सिलवानी रायसेन में सागर तिराहे स्थित वन परिसर में स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी के मुख्य आतिथ्य में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को लाभ वितरण एवं संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी द्वारा पीएम स्वनिधि योजना, स्वरोजगार योजना और स्व-सहायता समूह ऋण के तहत 104 हितग्राहियों को 24 लाख 40 हजार रू के हितलाभ से लाभान्वित किया। इस दौरान बालाघाट में आयोजित मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पीएम स्वनिधि कार्यक्रम का भी लाईव प्रसारण देखा व सुना गया। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा कि कोरोना महामारी के दौर में छोटे-छोटे व्यवसायी, पथ विक्रेता के कामकाज प्रभावित हुए। वह अपना व्यवसाय, रोजगार फिर से शुरू कर सके, इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा पीएम स्वनिधि योजना प्रारंभ की गई। इस योजना से हजारों, लाखों लोगों को लाभ मिला और योजना के तहत बिना किसी गारंटी के, बिना ब्याज के मिले ऋण से पथ विक्रेताओं, छोटे व्यवसायियों ने अपना रोजगार फिर से प्रारंभ किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा स्वयं पथ विक्रेताओं से संवाद भी किया गया, उन्हें प्रोत्साहित किया गया। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि पीएम स्वनिधि योजना, स्ट्रीट वेण्डर योजना और मुख्यमंत्री स्वरोजगार याजना से लोगों को अपना रोजगार प्रारंभ करने में बहुत मदद मिली है। उन्होंने कहा कि पीएम स्वनिधि के तहत शहरी पथ विक्रेताओं को 10 हजार रू का ऋण उपलब्ध कराया जाता है, जिसका ब्याज सरकार जमा करती हैं। जिन पथ विक्रेताओं ने 10 हजार रू का ऋण जमा कर दिया है उन्हें अपने रोजगार को बढ़ाने के लिए 20 हजार रू का ऋण उपलब्ध कराया जाता है। उन्होंने कहा कि पीएम स्वनिधि योजना शहरी हितग्राहियों के लिए प्रारंभ की गई थी। हमारे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक कदम आगे बढ़ते हुए ग्रामीण क्षेत्रों के लिए मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेण्डर योजना प्रारंभ की। जिसके माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों के पथ विक्रेताओं को भी 10 हजार रू का ऋण बिना गारंटी के उपलब्ध कराया गया। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत भी नगर के हितग्राहियों को 50 हजार से दो लाख रू तक का ऋण प्रदान किया जाता है जिससे वह अपना रोजगार स्थापित कर सकें, आत्मनिर्भर बन सकें। उन्होंने बताया कि इसमें हितग्राहियों को सात प्रतिशत ब्याज अनुदान और तीस प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के कठिन दौर में सरकार ने लोगों के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध कराई। कोरोना संक्रमण की रोकथाम और मरीजों के इलाज के लिए तेजी से इंतजाम किए गए। किल कोरोना अभियान के माध्यम से गॉव, शहरों में घर-घर सर्वे किया गया। आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से संक्रमित मरीजों का निजी अस्पतालों में निःशुल्क ईलाज कराया। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि जिले के साथ ही सम्पूर्ण प्रदेश में अस्पतालों और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में वेंटीलेर, आईसीयू वार्ड के प्रबंध किए गए। सभी जिलों में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि लोगों का कोरोना संक्रमण से बचाव हो सके, इसके लिए प्रदेश में अठारह वर्ष से अधिक आयु के शत-प्रतिशत लोगों के वैक्सीनेशन का लक्ष्य रखा गया है। गत 25 और 26 अगस्त को वैक्सीनेशन महाअभियान का दूसरा चरण आयोजित किया गया जिसमें प्रदेश में एक बार फिर रिकार्ड स्थापित किया। प्रदेश में अब तक अठारह वर्ष से अधिक आयु के चार करोड़ 50 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन लग गई है। मैं सभी से अपील करता हूॅ कि जिन्होंने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है, वह वैक्सीन लगवाएं। साथ ही जिन्होंने पहली डोज लगवा ली है, वह भी निर्धारित अवधि के बाद दूसरी डोज जरूर लगवाएं। वहीं दूसरी ओर सिलवानी नगर परिषद में स्टील वेंडरों से मोबाइल के जरिए विधायक ठाकुर रामपाल राजपूत ने संवाद किया और स्टील बेंडर का हाल पूछा इसी क्रम में मंडल अध्यक्ष विजय शुक्ला ने सभा को संबोधित किया रायसेन कार्यक्रम में कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने कहा कि पीएम स्वनिधि योजना के माध्यम से जरूरतमंदों को बिना किसी गारंटी के बिना ब्याज के 10-10 हजार रू का ऋण प्रदान किया जाता है। हितग्राही इस राशि से अपना रोजगार फिर से प्रारंभ करें और आत्मनिर्भर बनें। उन्होंने कहा कि हितग्राही द्वारा अपना 10 हजार रू का पूरा ऋण जमा करने पर व्यवसाय के विस्तार के लिए 20 हजार रू का ऋण प्रदान किया जाता है। कलेक्टर भार्गव ने कहा कि इस योजना की मदद से जरूरतमंद अपना रोजगार फिर से प्रारंभ कर सकते हैं। कार्यक्रम में 104 हितग्राहियों हुए लाभान्वित रायसेन वन परिसर में आयोजित कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी द्वारा स्व-सहायता समूह ऋण, स्वरोजगार योजना तथा पथ विक्रेता योजना के तहत 104 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया। इसमें स्वरोजगार योजना में 11 हितग्राहियों को 9 लाख 70 हजार रू, स्व-सहायता समूह ऋण में दो समूहों को तीन लाख 50 हजार रू तथा पथ विक्रेता योजना में कुल 91 हितग्राहियों को 11 लाख 20 हजार रू के हितलाभ से लाभान्वित किया गया। पथ विक्रेता योजना के तहत हितग्राहियों को 10 हजार रू एवं पात्रतानुसार 20 हजार रू का ऋण प्रदान किया गया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक मती मोनिका शुक्ला, अपर कलेक्टर श्री अनिल डामोर, सीएमओ रायसेन आरडी शर्मा, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष जमना सेन, बृजेश चतुर्वेदी सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।

Comments 0

Comment Now


Total Hits : 278112