Monday ,20th May 2024

परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली छात्राओं को सम्मानित किया गया

परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली छात्राओं को सम्मानित किया गया

 


                          कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शहीद हेमू कालानी एजुकेशनल सोसायटी के अध्यक्ष सिद्ध भाऊजी, संस्था के सचिव  ए.सी. साधवानी, मैनेजमेंट इंचार्ज  मनोहर वासवानी सहित विद्यालय के प्राचार्य  मनीष आर.के. जैन एवं विद्यालय की उपप्राचार्या अमृता मोटवानी उपस्थित थीं।
                        कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए माँ सरस्वती, माँ भारती एवं ब्रह्मलीन संत शिरोमणि हिरदाराम साहिब जी के सम्मुख दीप प्रज्वलित करते हुए माल्यार्पण कर किया गया। तत्पश्चात पुष्प गुच्छों से मुख्य अतिथियों का स्वागत किया गया।
 सिद्ध भाऊजी ने छात्राओं को संबोधित करते हुए, जिन छात्राओं ने परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया उन्हें बधाई दी, किन्तु जिन्होंने सफलता प्राप्त नहीं की उन्हें उन्होंने एकाग्रचित्त हो कर पढ़ने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि यदि सभी छात्राएँ सोशल मीडिया से दूर रहें एवं शिक्षकां पर विश्वास रखें तो सफलता उनके साथ होगी। इस हेतु उन्होंने छात्राओं को समझाया कि उन्हें कक्षा में एकाग्रचित हो कर पढ़ना चाहिए एवं पूर्व नियोजित योजना के अनुसार तैयारी करनी चाहिए। इसी के साथ उन्होंने छात्राओं को अच्छी छात्राओं के साथ मित्रता कर उनसे सहयोग प्राप्त करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि उज्ज्वल भविष्य के लिए पढ़ाई ही एक मात्र मार्ग है एवं पुस्तकों से प्रेम व शिक्षक पर विश्वास रख, पढ़ने की आदत आपके व्यक्तित्व को ही नहीं निखारती बल्कि आपको जीवन को स्वतंत्रतापूर्वक आत्मनिर्भर हो कर जीने की राह दिखाती है। आपने सुबह उठकर स्वाध्याय करने की प्रेरणा दी एवं समझाया कि संतुलित भोजन, संयमित जीवन एवं ईश्वर के प्रति निष्ठा जीवन को सार्थक करते हैं। इसी के साथ उन्होंने माता-पिता को सम्मान देने की एवं उनका सहयोग करने की प्रेरणा दी और कहा कि उनका आशीर्वाद व संबल बच्चों के व्यक्तित्व को निखारता है। उन्होंने वार्षिक परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सभी छात्राओं को अग्रिम शुभकामनाएँ दी।
                                                संस्था के सचिव ए.सी. साधवानी जी ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली छात्राओं को बधाई दी। उन्होंने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि जीवन में सफल होने के लिए ‘‘सदा स्वयं से मुकाबला करें, स्वयं का आंकलन करें तथा स्वयं को परिमार्जित करें।’’ यही जीवन की सफलता का सूत्र है। उन्होंने कहा कि जीवन में प्रगति करने हेतु आत्म चिंतन एवं आत्म मंथन ही एकमात्र मार्ग है। उन्होंने कहा कि कक्षा पहली से आठवीं कक्षा का समय अपनी नींव को मजबूत करने का एवं प्रत्येक विषय पर पकड़ बनाने का है। कक्षा में एकाग्रचित्त एवं एकनिष्ठ होकर अध्ययन करने के लिए आपने छात्राओं को प्रेरित किया।
                                                     

                                                  कार्यक्रम के आरंभ में आपने स्वागत भाषण में छात्राओं को संबोधित करते हुए विद्यालय के प्राचार्य श्री मनीष आर.के. जैन जी ने कहा कि यह अवसर है उन प्रतिभाओं को सम्मानित करने का जिन्होंने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। उन्होंने छात्राओं को प्रेरित करते हुए कहा कि अभी भी अवसर नहीं गया है। सतत् एवं पूर्व नियोजित योजना के साथ एकाग्रचित्त होकर प्रयास करने से छात्राएँ वार्षिक परीक्षा में अपने परिश्रम का प्रतिदान प्राप्त कर सकती हैं।

                                           कार्यक्रम की अगली कड़ी के रूप पारितोषक वितरण किया गया। इसके अंतर्गत कक्षा पहली से कक्षा आठवीं तक कक्षाओं में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त आने वाली सभी छात्राओं को उत्कृष्टता ट्रॉफी एवं पुष्प गुच्छों से सम्मानित किया गया। संस्था के अध्यक्ष श्रद्धेय सिद्ध भाऊजी ने छात्राओं को ट्रॉफी प्रदान करते हुए उनका उत्साहवर्धन भी किया। सभी छात्राओं ने करतल ध्वनि से अपने हर्ष व उत्साह की अभिव्यक्ति की।
 

 

Comments 0

Comment Now


Total Hits : 278104